[the_ad id='16714']

केन्द्रीय मंत्री कौशल किशोर के घर पर हुई युवक की हत्या का खुलासा, 3 गिरफ्तार

लखनऊ- 01 सितम्बर। केन्द्रीय मंत्री कौशल किशोर के घर पर उनके बेटे विकास के दोस्त विनय श्रीवास्तव की हत्या का खुलासा पुलिस ने कुछ ही घंटे में कर दिया है। हत्या की वजह शराब और जुएं में हार जीत को लेकर हुई है। पुलिस ने हत्या के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अन्य आरोपितों की तलाश में पुलिस की टीमें लगी हुई है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त अपराध आकाश कुलहरि ने शुक्रवार की शाम को हजरतगंज कैंप कार्यालय में प्रेसवार्ता की है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर के बेटे विकास के आवास पर उसके दोस्त विनय श्रीवास्तव की गोली मारकर हत्या की गई थी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने तीन आरोपितों अंकित वर्मा, अजय रावत, शमीम उर्फ बाबा को गिरफ्तार किया है।

शराब और जुएं में रुपये हार को लेकर हुई हत्या—

आकाश कुलहरि ने बताया कि जुए के दौरान हुए विवाद को लेकर हत्या हुई थी। उन्होंने बताया कि घटनास्थल से फोरेंसिक जांच टीम द्वारा जुटाए गए साक्ष्य और गिरफ्तार अभियुक्तों से प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि विकास के घर पर विनय, अंकित वर्मा, अजय रावत, शमीम उर्फ बाबा, सौरभ रावत, अरुण प्रताप सिंह के साथ जुआ खेल रहे थे। इससे पहले सभी ने मिलकर शराब पी थी। जुआ में विनय 12 हजार रुपये हार गया था। कुछ देर बाद अंकित, अजय और शमीम के कहने पर जुआ बंद हो गया और जीत की रकम को लेकर सौरभ और अरुण चले गए थे। इतने में विनय तीनों पर नाराज हो गया और कहा कि तुम लोगों ने योजनाबद्ध तरीके से खेल को बंद किया है। तुम लोगों की वजह से मैं जुए में पैसा हार गया हूं अगर खेल होता तो वो जीत सकता था। इसको लेकर विवाद हो गया। छीना छपटी में उसकी शर्ट फट गई। जिससे नाराज होकर अंकित ने बेड पर तकिये के नीचे रखी विकास की लाइसेंसी रिवाल्वर को निकालकर तीनों ने विनय को पकड़कर उसके माथे पर गोली मारकर हत्या कर दी।

संयुक्त पुलिस आयुक्त ने बताया कि हत्यारोपितों ने अपने जूर्म स्वीकारे हैं। सीसीटीवी में भी यह पता चला है कि घटना के वक्त सौरभ और अरुण चले गए थे। घटनास्थल से लाइसेंसी रिवाल्वर को भी बरामद कर लिया गया हैं। सभी गिरफ्तार आरोपितों के खिलाफ अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।

परिवार ने सड़क जाम कर किया था हंगामा—

विनय श्रीवास्तव की हत्या के बाद परिवार के लोगों ने बेटे की हत्या को लेकर सवाल खड़े किए हैं। मां का कहना है कि साजिश के तहत उनके बेटे की हत्या की गई है। वहीं भाई का आरोप है कि जब तक पुलिस घटना का खुलासा नहीं करती है तब तक सभी आरोपित हैं। परिवार ने पहले पोस्टमॉर्टम हाउस फिर दुबग्गा के पास शव को सड़क पर रखकर जाम लगाने का प्रयास किया। लेकिन, पुलिस ने कार्रवाई का भरोसा देकर सभी को शांत करा दिया था।

कौशल किशोर बोले, दिल्ली में था बेटा—

मंत्री कौशल किशोर ने हत्या में किसी भी साजिश से इनकार करते हुए बताया कि घटना के वक्त उनका बेटा दिल्ली में था। दूसरे राज्य में लाइसेंस मान्य न होने की वजह से लाइसेंसी पिस्टल को घर पर ही छोड़ गया था। इस दुख की घड़ी में मैं पीड़ित परिवार के साथ हूं। मृतक और उसका परिवार मेरा बहुत करीबी है। वह पुलिस का पूरा सहयोग करेंगे। घटना को लेकर उन्होंने पुलिस कमिश्नर से भी बातचीत की थी।

भाई ने किया अंतिम संस्कार—

पुलिस की काफी जदोजहद के बाद परिवार ने गुलाला घाट पर विनय के शव का अंतिम संस्कार किया है। इस दौरान केन्द्रीयमंत्री कौशल किशोर, उनका बेटा विकास और सैकड़ों समर्थक मौजूद थे।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!