[the_ad id='16714']

वायु सेना बदलेगी ‘लड़ाकू वर्दी’, नया डिजिटल पैटर्न ‘एयर फोर्स डे’ पर होगा लॉन्च

नई दिल्ली- 06 अक्टूबर। इस बार भारतीय वायु सेना का 90वां स्थापना दिवस कई मामलों में यादगार होगा। यह पहला मौका होगा जब वायु सेना 08 अक्टूबर को ‘एयर फोर्स डे’ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के हिंडन एयरबेस से बाहर चंडीगढ़ में मनाएगी।

इस मौके पर वायु सेना प्रमुख ‘लड़ाकू वर्दी’ के नए डिजिटल पैटर्न का अनावरण करेंगे। इस बार का कार्यक्रम दो हिस्सों में रखा गया है, यानी परेड सुबह और फ्लाईपास्ट शाम को सुखना झील के किनारे होगा। हवाई प्रदर्शन में 83 लड़ाकू, परिवहन विमान और हेलीकॉप्टर भाग लेंगे। स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर ‘प्रचंड’ भी अपनी ताकत का पहला सार्वजनिक प्रदर्शन करेगा।

ग्रुप कैप्टन ए राठी के अनुसार वायु सेना दिवस की परेड और फ्लाईपास्ट पहली बार राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से बाहर चंडीगढ़ में सुखना झील के किनारे होगी। फ्लाईपास्ट में एवरो, डोर्नियर, चेतक और चीता हेलीकॉप्टर को छोड़कर लड़ाकू राफेल, सुखोई-30, मिराज-2000, जगुआर, कार्गो सहित 80 विमान और हेलीकॉप्टर भाग लेंगे। 03 अक्टूबर को बेड़े में शामिल किया गया स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर ‘प्रचंड’ भी तीन फाइटर जेट के बीच अपनी ताकत का पहला सार्वजनिक प्रदर्शन करेगा। इसके अलावा, एमआई-35, एमआई-17, चिनूक, अपाचे, हॉवर्ड और डकोटा जैसे पुराने हेलीकॉप्टर भी हिस्सा लेंगे।

चंडीगढ़ में एयर शो की तैयारियां देख रहे विंग कमांडर इन्द्रनील नंदी के अनुसार ये सभी विमान आकाशगंगा, एनसाइन, एकलव्य, त्रिशूल, मेहर, शमशेर, वज्र सहित विभिन्न फॉर्मेशन में उड़ान भरेंगे। फ्लाईपास्ट में सारंग और सूर्यकिरण की टीम आसमान को अपने रंगों से भरने के लिए तैयार है। ग्लोब फॉर्मेशन में सूर्य किरण डिस्प्ले टीम से प्रशिक्षित नौ सी हॉक-132 जेट्स हेवी लिफ्ट एयरक्राफ्ट सी-17 के साथ शामिल होंगे। ट्रांसफॉर्मर फॉर्मेशन में राफेल, सुखोई-39 और तेजस का संयुक्त हवाई युद्धाभ्यास एयर शो का आकर्षण होगा। वायु सेना की आकाश गंगा स्काईडाइविंग टीम का प्रदर्शन, चिनूक हेलीकॉप्टर की पैंतरेबाजी और अंडरस्लंग ऑपरेशन भी देखने लायक होगा।

प्रवक्ता विंग कमांडर आशीष मोघे ने बताया कि वायु सेना दिवस पर एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी भारतीय वायु सेना कर्मियों के लिए लड़ाकू वर्दी के नए डिजिटल पैटर्न का अनावरण करेंगे। हालांकि, हमारे पास पहले से ही एक लड़ाकू वर्दी है, लेकिन नए पैटर्न को डिजिटल डिजाइन से तैयार किया गया है। नई वर्दी में एक अलग फैब्रिक और डिज़ाइन होगा। इसके रंग थोड़े अलग होंगे, जो वायु सेना में काम करने के माहौल के लिए अधिक अनुकूल होंगे। नई वर्दी कुछ हद तक भारतीय सेना की लड़ाकू वर्दी के डिजिटल पैटर्न के समान होगी। इसे नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (निफ्ट) ने डिजाइन किया है।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!