[the_ad id='16714']

गिरिडीह में असदुद्दीन ओवैसी की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के लगे नारे पर चुनाव आयोग गंभीर

गिरिडीह- 31 अगस्त। गिरिडीह के डुमरी में असदुद्दीन ओवैसी की चुनावी सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। चुनाव आयोग ने इसे गंभीरता से लिया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से गिरिडीह जिला प्रशासन से इस संबंध में मांगी गई रिपोर्ट दी जा चुकी है। गिरिडीह जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त ने इस चुनावी सभा की वीडियो रिकॉर्डिंग की कॉपी के साथ संबंधित एफआईआर भी मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को उपलब्ध करा दिया है। गिरिडीह जिला प्रशासन द्वारा इसकी जांच शुरू कर दी गई है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को जो वीडियो क्लिपिंग्स उपलब्ध कराए गए हैं, उसमें नारेबाजी की बात सामने आ रही है। जिससे प्रतीत होता है कि एआईएमआईएम के सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी एवं डुमरी विधानसभा उपचुनाव लड़ रहे अब्दुल मोबिन रिजवी की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं।

गुरुवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के. रवि कुमार ने कहा कि चुनावी सभा के दौरान आयोग की ओर से भी वीडियोग्राफी की जाती है। इस सभा की भी वीडियोग्राफी हुई थी। आयोग द्वारा इस संबंध में अग्रतर कार्रवाई की जायेगी।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को गिरिडीह के डुमरी स्थित केबी हाई स्कूल मैदान में ओवैसी की चुनावी सभा हुई थी, जिसमें पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जाने की बातें सोशल मीडिया में आने लगी थीं। इसके बाद जिला प्रशासन हरकत में आई और आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज करते हुए चुनाव आयोग के निर्देश पर जांच की जा रही है।

दिवंगत शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के निधन से खाली हुए डुमरी विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव पांच सितंबर को होगा, जिसको लेकर एक तरफ जहां चुनाव प्रचार जोरों पर है, वहीं दूसरी ओर जिला प्रशासन के द्वारा व्यापक तैयारियां की गई हैं। कुल 373 मतदान केंद्रों में से अधिकांश मतदान केंद्र एवं उसके आसपास के क्षेत्र को संवेदनशील मानते हुए चुनाव आयोग ने मतदान के दिन एवं उससे पहले केंद्रीय बलों के साथ-साथ राज्य पुलिस के जवानों को तैनात करने का निर्णय लिया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के. रवि कुमार ने कहा कि डुमरी विधानसभा क्षेत्र में बोकारो और गिरीडीह जिला प्रशासन के द्वारा नजर रखी जा रही है। चुनाव के दौरान धन बल को रोकने के लिए जिलास्तर पर टास्क फोर्स भी गठित की गई है।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!