[the_ad id='16714']

BIHAR:- कोरोना वैक्सीन की 12 डोज लेने वाला ब्रह्मदेव मंडल गिरफ्तार

पटना/मधेपुरा, 10 जनवरी। अगर कहा जाए कि बिहार में सबकुछ राम भरोसे चल रहा है तो यह आश्चर्यजनक नहीं होगा। प्रदेश के मधेपुरा जिले में ब्रह्मदेव मंडल नामक व्यक्ति ने इसे चरितार्थ कर दिखाया है। ब्रह्मदेव मंडल ने 12 बार कोरोना वैक्सीन का डोज लेने का दावा किया है। बीती रात मधेपुरा पुलिस ने ब्रह्मदेव मंडल को उसके घर से गिरफ्तार किया है।

एसपी राजेश कुमार ने सोमवार को बताया कि ब्रह्मदेव के खिलाफ धोखेबाजी, संपत्ति नष्ट करने और सरकारी आदेशों की अवहेलना का केस दर्ज किया गया है। एसपी राजेश कुमार ने बताया, ‘पुरैनी पीएचसी प्रभारी द्वारा ब्रह्मदेव मंडल पर पुरैनी थाना में आईपीसी की धारा 419, 420 और 188 के तहत मामला दर्ज कराया गया है। पुलिस जांच कर रही है। मंडल के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों की भूमिका की भी जांच की जाएगी।’

जिले के प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. अब्दुल सलाम ने बताया कि ‘इस मामले में जिला स्तर से जांच कमेटी का गठन किया गया है। राज्य स्तर से भी मामले की निगरानी की जा रही है। जांच रिपोर्ट आने पर मुख्यालय को अवगत कराया जाएगा। ब्रह्मदेव मंडल तत्काल आगे फिर वैक्सीन न ले, इसके लिए थाने में आवेदन दिया गया है।’

केस दर्ज होने के बाद ब्रह्मदेव मंडल ने पत्रकारों को बताया कि ‘वैक्सीनेशन से मुझे फायदा हुआ है। इसलिए बार-बार वैक्सीन ली है। इसमें स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही है, जिसने बिना जांच के हमें 12 बार वैक्सीन दी। अपनी लापरवाही को छिपाने के लिए ही मेरे ऊपर एफआईआर दर्ज कराई गई है। ब्रह्मदेव मंडल ने बताया कि उसने13 फरवरी 2021 को पुरैनी पीएचसी में वैक्सीन का पहला डोज लिया था। इसके बाद उसने दूसरा डोज 13 मार्च को पुरैनी पीएचसी में, तीसरा डोज 19 मई को औराय उप स्वास्थ्य केंद्र और चौथी वैक्सीन 16 जून को भूपेंद्र भगत के कोटे पर लगे कैंप में लगवाई थी। उसने बताया कि पांचवां डोज 24 जुलाई को पुरैनी बड़ी हॉट स्कूल पर लगे कैंप में, छठा 31 अगस्त को नाथबाबा स्थान कैंप में, सातवां 11 सितंबर को बड़ी हाट स्कूल में, आठवीं बार वैक्सीन 22 सितंबर को बड़ी हाट स्कूल, नौवीं डोज 24 सितंबर को स्वास्थ्य उप केंद्र कलासन जाकर लिया था। मंडल ने दावा किया कि उसने 10वीं डोज खगड़िया जिले के परबत्ता में, 11वीं डोज भागलपुर के कहलगांव में और वैक्सीन की 12वीं डोज मंगलवार को चौसा पीएचसी में लिया है।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!