[the_ad id='16714']

बाबर आजम ने हासिल की खास उपलब्धि, महेन्द्र सिंह धोनी को छोड़ा पीछे

फ्लोरिडा-17 जून। बाबर आजम पूर्व भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी को पीछे छोड़ते हुए टी 20 विश्व कप के इतिहास में बतौर कप्तान सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं।

रविवार को फ्लोरिडा में आयरलैंड के खिलाफ पाकिस्तान के अंतिम ग्रुप-स्टेज मुकाबले में बाबर ने अहम भूमिका निभाई और 34 गेंदों पर नाबाद 32 रन बनाए।

107 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए उन्होंने एक छोर संभाले रखा और पाकिस्तान को 3 विकेट की जीत में अहम भूमिका निभाई।

टी20 विश्व कप में कप्तान के रूप में बाबर के नाम अब 17 पारियों में 549 रन हैं। इससे पहले, धोनी ने 29 पारियों में 529 रन बनाकर रिकॉर्ड बनाया था। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन भी पूर्व भारतीय कप्तान से आगे निकल सकते हैं। वह धोनी के 529 रनों से सिर्फ दो रन पीछे हैं और सोमवार को पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ कीवी टीम के अगले मैच में उन्हें पीछे छोड़ सकते हैं। बाबर ने जहां अपने बल्ले से रिकॉर्ड तोड़ा, वहीं उनके स्टार तेज गेंदबाज शाहिन शाह अफरीदी, जिन्हें मैच जिताने वाले ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया, ने भी इतिहास रच दिया।

शाहीन ने अपने चार ओवर के स्पेल में 5.50 की इकॉनमी से 22 रन देते हुए तीन विकेट चटकाए। रोमांचक मैच के अंतिम क्षणों में उन्होंने दो छक्के जड़कर पाकिस्तान को जीत दिलाई।

यह तीसरा मौका था जब शाहीन को टी20 विश्व कप में पाकिस्तान के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। अब वह इस प्रतिष्ठित आयोजन में पाकिस्तान के लिए सबसे अधिक प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार जीतने वाले पूर्व तेज गेंदबाज उमर गुल की बराबरी कर ली है। शाहीन के ससुर और पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी के नाम टी20 विश्व कप में पाकिस्तान के लिए सबसे अधिक चार प्लेयर ऑफ द मैच पुरस्कार जीतने का रिकॉर्ड है।

मैच की बात करें तो एक समय केवल 32 रन पर 6 विकेट गंवाने के बाद गैरेथ डेलानी (31) और जोशुआ लिटिल (22*) के बहुमूल्य योगदान केी बदौलत आयरलैंड ने 20 ओवर में 9 विकेट पर 106 रन बनाए। जवाब में, पाकिस्तान की बल्लेबाजी एक बार फिर से ताश के पत्तों की तरह ढह गई और टीम ने 62 रनों रनों पर 6 विकेट खो दिये। यहां से बाबर (नाबाद 32) ने अब्बास अफरीदी (17) और शाहीन शाहिन शाह अफरीदी (नाबाद 13) के साथ मिलतर 18.5 ओवरों में पाकिस्तान को तीन विकेट से जीत दिला दी।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!