[the_ad id='16714']

सोना फिसला, चांदी में भी 2 हजार रुपये से ज्यादा की गिरावट

नई दिल्ली- 10 अक्टूबर। नवरात्रि में आई तेजी के बाद अब सर्राफा बाजार में करेक्शन का दौर शुरू होता हुआ नजर आने लगा है। भारतीय सर्राफा बाजार में आज सोना और चांदी दोनों धातुओं में गिरावट का रुख नजर आया। सप्ताह के पहले कारोबारी दिन बाजार में बिकवाली का दबाव बन जाने के कारण आज सोने की अलग-अलग श्रेणियों में 448 रुपये प्रति 10 ग्राम से लेकर 263 रुपये प्रति 10 ग्राम की कमजोरी दर्ज की गई। इसी तरह चांदी भी आज के कारोबार में प्रति किलोग्राम 2,074 रुपये गिर गया।

इंडियन बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) की ओर से उपलब्ध कराई गई जानकारी के मुताबिक घरेलू सर्राफा बाजार में आज कारोबारी यानी 24 कैरेट (999) सोने की औसत कीमत 448 रुपये की कमजोरी के साथ गिरकर 51,317 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) हो गई। इसी तरह 23 कैरेट (995) सोने की कीमत भी 446 रुपये की गिरावट के साथ 51,112 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) हो गई। जबकि जेवराती यानी 22 कैरेट (916) सोने की कीमत में आज 411 रुपये प्रति 10 ग्राम की कमजोरी दर्ज की गई। इसके साथ ही 22 कैरेट सोना 47,006 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया। इसके अलावा 18 कैरेट (750) सोने की कीमत में आज प्रति 10 ग्राम 226 रुपये की गिरावट दर्ज की गई। इस गिरावट के साथ 18 कैरेट सोना 38,488 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया। जबकि 14 कैरेट (585) सोना आज 263 रुपये टूटकर 30,020 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया।

सर्राफा बाजार में आज चांदी की कीमत में भी तेज गिरावट का रुख बना। आज बिकवाली का दबाव बनने के कारण चांदी (999) की कीमत टूट कर 59 हजार रुपये प्रति किलोग्राम से भी नीचे पहुंच गई। चांदी में आज 2,074 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट दर्ज की गई, जिसके कारण ये चमकीली धातु फिसल कर 58,774 रुपये प्रति किलोग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गई।

चंद्रमोहन गिल्ट एंड सिक्योरिटीज के सीईओ चंद्रमोहन बाजवा के मुताबिक सर्राफा बाजार में करेक्शन के कारण आज गिरावट का रुख बना है। पिछले सप्ताह सोना 52 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के करीब पहुंच गया था, जबकि चांदी भी 61 हजार रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर को पार करके कारोबार कर रहा था। ऐसे में पहले से ही इस बात का अनुमान लगाया जा रहा था कि बाजार को करेक्शन के एक दौर से गुजरना पड़ सकता है।

बाजवा के मुताबिक वैश्विक परिस्थितियों के हिसाब से देखा जाए तो अंतरराष्ट्रीय बाजार की तुलना में भारतीय सर्राफा बाजार में लगातार तेजी बनी हुई है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी दोनों चमकीली धातुओं में कमजोरी का रुख बना हुआ है, लेकिन त्योहारी सीजन के कारण भारतीय बाजार में फिलहाल इन दोनों धातुओं में ओवरऑल मजबूती का रुख बना हुआ है। धनतेरस और दिवाली तक सर्राफा बाजार में तेजी जारी रहने का अनुमान है। इसके बावजूद बीच-बीच में आज की तरह मुनाफावसूली या करेक्शन की संभावना से इनकार भी नहीं किया जा सकता है। इसलिए फिलहाल छोटे निवेशकों को काफी सतर्क होकर सर्राफा बाजार में निवेश की योजना बनानी चाहिए।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!