[the_ad id='16714']

विस्फोट से क्रीमिया पुल के नुकसान की जांच करेंगे रूसी गोताखोर

कीव- 09 अक्टूबर। शक्तिशाली विस्फोटक से क्रीमिया के सड़क और रेल पुल पर हुए नुकसान की रूसी गोताखोर जांच करेंगे। यह पुल प्रायद्वीप में मास्को के कब्जे का प्रतीक है और दक्षिणी यूक्रेन में लड़ रहे सैन्य बलों के लिए एक प्रमुख आपूर्ति मार्ग है।

केर्च जलडमरूमध्य पुल पर शनिवार को हुए विस्फोट की जिम्मेदारी अभी तक किसी ने नहीं ली है। रूस ने भी इस विस्फोट के लिए किसी को दोषी नहीं ठहराया है। रूसी उप प्रधान मंत्री मरात खुसनुलिन ने कहा कि गोताखोर रविवार सुबह से सर्वेक्षण का काम शुरू करेंगे। उन्हें उम्मीद है कि विस्तृत सर्वेक्षण दिन के अंत तक पूरा हो जाएगा। क्रीमिया के रूसी गवर्नर सर्गेई अक्स्योनोव ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में हैं, विस्फोट की घटना अप्रिय है, लेकिन घातक नहीं है। यह कार्रवाई बेशक भावनाएं भड़काने वाली है, इसका बदला लिया जाएगा।

जपरोज्जिया शहर में स्थित यूरोप के सबसे बड़े परमाणु केंद्र पर बीते सप्ताह रूस ने भारी बमबारी की थी। केर्च जलडमरूमध्य पर पुल दक्षिणी यूक्रेन में रूसी सेना के लिए एक प्रमुख आपूर्ति मार्ग है। रूसी अधिकारियों ने बताया कि शनिवार तड़के हुए विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई। पुल के ऊपरी स्तर पर प्रायद्वीप के लिए जा रही 59-वैगन ट्रेन के सात ईंधन टैंकर वैगनों में भी आग लग गई।

विस्फोट के लगभग 10 घंटे बाद सीमित सड़क यातायात फिर से शुरू हो गया और रूस के परिवहन मंत्रालय ने रेल यातायात को फिर से शुरू करने की मंजूरी दे दी। रूस की राष्ट्रीय आतंकवाद विरोधी समिति ने कहा कि पुल के सड़क पर एक मालवाहक ट्रक को विस्फोटक से उड़ा देने से सड़क पुल के दो हिस्से आंशिक रूप से ढह गए थे।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!