[the_ad id='16714']

जेपी के सिद्धांतों की दुहाई देने वाले कांग्रेस की गोद में बैठकर बिहार की जनता को छल रहे: अमित शाह

पटना/सारण- 11 अक्टूबर। संपूर्ण क्रांति के प्रणेता और 1974 के बिहार आंदोलन के अगुवा जयप्रकाश नारायण की जयंती पर गृह मंत्री अमित शाह ने उनकी धरती सिताब दियारा में मंगलवार को प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जेपी के सिद्धांतों की दुहाई देने वाले आज उन्हीं के घोर विरोधी कांग्रेस की गोद में बैठकर बिहार की जनता को छल रहे हैं।

अमित शाह ने कहा कि आज बिहार में ऐसी सरकार है जिसने जेपी के सिद्धांतों को दरकिनार कर सत्ता के लिए पांच-पांच बार पाला बदला। जेपी के कारण ही देश में गैर कांग्रेस सरकार बनी। संपूर्ण क्रांति के नारे को सफल बनाने का काम प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी ने किया है। घर-घर बिजली पहुंचाने का काम भाजपा सरकार ने किया है। प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी ने सर्वोदय और समाजवादी की विचारधारा को आगे बढ़ाया है।

गृह मंत्री ने कहा कि संपूर्ण क्रांति का आंदोलन गुजरात से ही शुरू हुआ और जेपी ने हम सबका मार्गदर्शन किया। देश में सरकारी भ्रष्टाचार और तानाशाही के खिलाफ जो मुहिम जेपी ने शुरू की थी, वो आज तक हम लोग जारी रखे हुए हैं। मोदी सरकार जेपी के सिद्धांतों पर ही आगे बढ़ रही है।

अमित शाह ने कहा कि जीवन पर्यंत जयप्रकाश नारायण गांधी के सिद्धांतों पर चले। गरीब पिछड़ों के लिए उन्होंने पूरा जीवन समर्पित कर दिया। 70 के दशक में देश में तत्कालीन कांग्रेस सरकार की प्रमुख इंदिरा गांधी द्वारा इमरजेंसी लाया गया तो जयप्रकाश ने बहुत बड़ा आंदोलन करके इस तानाशाही सरकार को उखाड़ फेंका था। अब भ्रष्टाचार और अवसरवाद की राजनीति करने वाले और जेपी के सिद्धांतों की झूठी दुहाई देने वाले लोगों को सत्ता से बाहर करने का समय आ गया है।

गृह मंत्री ने कहा कि बीते आठ साल से देश में नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में भाजपा की सरकार चल रही है। मोदी सरकार ने सात करोड़ गरीबों को पांच लाख का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा, ढाई साल तक कोरोना काल में मुफ्त राशन और 12 करोड़ से ऊपर देश की मां-बहनों को रसोई गैस देकर उन्हें धुएं से आजादी दिलाई है।

बिहार लोकतंत्र की रक्षा के लिए सदा रहा सचेत : योगी आदित्यनाथ

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बिहार लोकतंत्र को खत्म होते नहीं देख सकता। जब-जब लोकतंत्र पर हमला हुआ है बिहार उसके खिलाफ आंदोलन किया है। स्वतंत्रता के बाद जेपी ने देश को नेतृत्व देने का काम किया। देश 1947 में आजाद हुआ लेकिन बलिया तो पांच साल पहले ही खुद को आजाद कर लिया था। यह क्रांति की भूमि रही है।

उन्होंने कहा कि मेरा विचार रहा है कि बिहार सरकार और यूपी सरकार मिलकर नदी की गाद को साफ करे और दोनों राज्यों के बीच जल परिवहन का विकास हो। योगी ने कहा कि जेपी और लोहिया के विचारों को हम आगे बढा रहे हैं। केन्द्र की मोदी सरकार बिना भेदभाव के काम कर रही है। यूपी ने अपराधी और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई की है। भ्रष्टाचार बिहार की प्रतिभा को आगे बढ़ने से रोक रही है।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!