[the_ad id='16714']

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव लोकतांत्रिक आस्थाओं और कांग्रेस परिवार के बीचः खड़गे

भोपाल- 12 अक्टूबर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद के उम्मीदवार मल्लिकार्जन खड़गे ने कहा कि अभा कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव मेरे अकेले का नहीं, पूरी कांग्रेस का चुनाव है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं की इच्छानुसार मैं इस राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष का एक उम्मीदवार हूं। मेरा कोई राजनैतिक एजेंडा नहीं है। उदयपुर में संपन्न पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन के दौरान जो निर्णय हुए,उन्हीं को आगे बढ़ाना मेरी जिम्मेदारी होगी।

खड़गे बुधवार को भोपाल प्रवास के दौरान यहां कांग्रेस कार्यालय में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और नेताओं के खिलाफ मौजूदा सरकारों ने जिस तरह उन्हें झूठे प्रकरण बनाकर प्रताड़ित और परेशान किया जा रहा है। ईडी, सीबीआई जैसी संस्थाओं का दुरुपयोग हमारे साथियों के मनोबल को तोड़ने के लिए किया जा रहा है, उनके खिलाफ सड़क से लेकर पार्लियामेंट तक सशक्त संघर्ष करना ही मेरा मुख्य एजेंड़ा होगा।

खड़गे ने कहा कि मैंने 55 वर्ष पहले कांग्रेस पार्टी के एक ब्लाक अध्यक्ष के रूप में अपनी राजनीतिक पारी की शुरूआत की थी। मुझे गर्व है कि स्व. इंदिरा गांधी, स्व. राजीव गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी का मुझे इस लंबी राजनैतिक यात्रा में उनका स्नेह और विश्वास मिला है। इस चुनाव में मेरी किसी से भी प्रतिस्पर्धा नहीं है, कांग्रेस पार्टी मेरा एक वृहद परिवार है, जिसमें सभी को अपनी बातें रखने का अधिकार है। हम सब मिलकर एक परिवार के एक सदस्य के रूप में उसे ऊंचाइयां देने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा राजनैतिक डाकेजनी के माध्यम से लोकतंत्र को लूट रही है। जिस तरह भाजपा द्वारा मप्र और कर्नाटक में सरकारें गिराई गईं,गोवा और महाराष्ट्र में भी कालेधन के माध्यम से ऐसी ही राजनैतिक डाकेजनी को अंजाम दिया गया। हम इस अलौकतांत्रिक चरित्र के खिलाफ न केवल सीधा संघर्ष करेंगे,बल्कि संवैधानिक संस्थाओं की गिरती हुई साख को भी पुनर्स्थापित करेंगे।

उन्होंने कांग्रेस को पुनर्जीवित किये जाने की बात करने वालों पर भी सीधा हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी एक जीवित पार्टी है, उसे पुनर्जीवित करने की बात करने वाले लोग इस विचारधारा के दुश्मन प्रतीत होते हैं। भाजपा और उसकी विचारधारा पर भी तीखा तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि एक तरफ यह विचारधारा कांग्रेस मुक्त भारत बनाने की बात करती है, वहीं दूसरी ओर हमारी काबिज सत्ताओं को कालेधन के बल पर गिराकर हमारी राजनैतिक ताकत से भयभीत क्यों हैं?

खड़गे ने कहा कि मेरे अध्यक्ष चुने जाने के बाद पीढ़ियों के अंतर को समाप्त करते हुए 50 फीसदी पार्टी के उनक कार्यकर्ताओं का चयन होगा,जो 50 वर्ष से कम आयु वर्ग के होकर विभिन्न वर्ग और जाति समुदाय के होंगे। आवश्यकतानुसार हमारी रीति-नीतियों में सामूहिक सहमति से परिवर्तन भी किया जायेगा। पत्रकार वार्ता में खड़गे के साथ राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी और अभा कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता गौरव वल्लभ भी मौजूद थे।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!