[the_ad id='16714']

BIHAR:- दुर्गा पूजा मेले में मिठाई और ब्रेड खाने से दो की मौत, 26 लोग बीमार, अरवल जिले की घटना

पटना- 05 अक्टूबर। बिहार में अरवल जिले के करपी थाना क्षेत्र के रोहाई गांव में मंगलवार को दुर्गा पूजा के दौरान मेले की एक दुकान (रेहड़ी) में मिठाई और ब्रेड खाने से 26 लोग बीमार हो गए। इनमें बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं। सभी को ग्रामीणों के सहयोग से अरवल सदर अस्पताल में बुधवार को भर्ती कराया गया। बीमार बच्चे करपी थाना क्षेत्र के केश्वर बिगहा,बाजीतपुर और बारा गांव के रहने वाले हैं। इन बच्चों की रात को तबीयत बिगड़ गई थी।

इस बीच इटावा गांव निवासी बाबूलाल भीम और उसके पुत्र गौतम कुमार की फूड प्वाइजनिंग से मौत हो गई।सदर अस्पताल के चिकित्सक महेंद्र शर्मा के मुताबिक यहां भर्ती फूड प्वाइजनिंग के शिकार लोगों में 9 छोटे बच्चेए कुछ महिलाएं और पुरुष शामिल हैं। 24 घंटे में सभी को रिकवर कर लिया जाएगा।

एक पीड़ित के परिजन अनिरुद्ध दास ने बताया कि बच्चे मेला घूमने के लिए गए थे। इस दौरान उन्होंने एक दुकान पर ब्रेड और मिठाई खाई। घर पहुंचते ही देररात उल्टी शुरू हो गई। इसके बाद बच्चों को करपी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल रेफर कर दिया।पीड़ितों के परिवार के सदस्यों की मांग है कि जिला प्रशासन फूड कारपोरेशन से मामले की जांच कराए। ऐसे दुकानदारों पर कड़ी कार्रवाई हो।

अरवल जिले के रामपुर चौरम थाना क्षेत्र के खेदुरु बिगहा गांव निवासी उपेंद्र सिंह की 45 वर्षीय पत्नी मनोरमा देवी, 22 वर्षीय पुत्री पूजा कुमारी,24 वर्षीय पुत्र नवीन कुमार ,16 वर्षीय पुत्री खुशी कुमारी और 14 वर्षीय पुत्र प्रिंस कुमार फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुए हैं। इनको ठीक होने पर अस्पताल से घर भेज दिया गया। इनके अलावा सुरजी देवी, पिंकी कुमारी, संजू देवी और सिंपी कुमारी भी फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुई हैं। सभी एक ही गांव के रहने वाले हैं। एक ही साथ मेला घूमने गए थे और एक ही जगह पर मिठाई और ब्रेड खाई थी।

गाजीपुर निवासी प्रमोद दास के 8 वर्षीय पुत्र पवन कुमार के साथ नीरो देवी रोहाई मेला घूमने गई थी। मिठाई खाने से रात में बीमार हो गईं। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनके अलावा चांदनी कुमारी, सरिता देवी, कोमल कुमारी, संगीता देवी, अक्षय कुमार, आरती देवी, वर्षा कुमारी और संजू देवी ने भी एक साथ एक ही जगह मिठाई खाई थी।

सदर अस्पताल में इटावा गांव निवासी लालबाबू बिंद की फूड प्वाइजनिंग से पहले ही मौत हो गई थी। उसके बाद उनके पुत्र गौतम कुमार की मौत हो गई। हालांकि सदर अस्पताल इस मामले में लीपापोती कर रहा है। वह फूड प्वाइजनिंग से मौत की पुष्टि नहीं कर रहा। अस्पताल के उपाधीक्षक का कहना है कि सांस रुकने से इसकी मौत हुई है।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!