[the_ad id='16714']

मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार आई तो लाड़ली बहना के पैसे बंद कर देगी: स्मृति ईरानी

नर्मदापुर– 09 नवंबर। मध्यप्रदेश को कांग्रेस की सरकार ने बीमारू प्रदेश बना दिया था। भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी तो विकास योजनाएं शुरू हुईं और मध्यप्रदेश को विकसित राज्यों की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिया। 15 महीने के लिए कांग्रेस नेता कमलनाथ मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने विकास कार्यों पर रोक लगाने के साथ गरीब कल्याण की योजनाएं बंद कर दी। अगर धोखे से भी मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन गई तो लाड़ली बहना योजना को बंद कर देगी।

यह बात केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को नर्मदापुरम् जिले के होशंगाबाद विधानसभा से पार्टी प्रत्याशी डॉ. सीतासरन शर्मा के समर्थन में इटारसी में जनसभा का संबोधित करते हुए कही। उन्होंने सोहागपुर से पार्टी प्रत्याशी विजय पाल सिंह के समर्थन में बाबई में भी जनसभा को संबोधित किया।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि मध्यप्रदेश में भाजपा की सरकार ने ही विकास कार्य किए हैं। 2003 के पहले यहां कांग्रेस की सरकार थी और प्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी में शामिल था। भाजपा की सरकार बनने के बाद मध्यप्रदेश में विकास के नए आयाम स्थापित किए गए। 2014 में केंद्र में नरेंद्र मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से डबल इंजन की सरकार ने दोगुनी रफ्तार से मध्यप्रदेश का विकास किया है। 17 नवंबर को कमल का बटन दबाकर भाजपा प्रत्याशियों को जिताकर गरीब कल्याण की योजनाओं को बंद करने वाली कांग्रेस को जवाब दें।

गरीबों के मकान लौटाना गरीब विरोधी मानसिकता का परिचायक—

उन्होंने कहा कि 15 महीने के लिए मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी और कमलनाथ मुख्यमंत्री बने। इसके बाद उन्होंने मध्यप्रदेश में विकास कार्य और गरीब कल्याण के कार्यों को बंद तो किया ही, केंद्र सरकार की योजनाओं को भी पूरी तरह से लागू नहीं किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पीएम आवास योजना के तहत मकान भेजे थे, जिनमें दो लाख मकान कमलनाथ ने मुख्यमंत्री रहते हुए लौटा दिए थे। यह कार्य कांग्रेस पार्टी और कमलनाथ की गरीब विरोधी मानसिकता का परिचायक है। कांग्रेस सरकार ने न तो गरीबों को घर दिया और न ही गर्भवती महिलाओं को पैसा। अति गरीबों के लिए संबल योजना में भाजपा सरकार मदद देती थी, कमलनाथ ने वह भी बंद कर दिए थे। स्कूली छात्रों को गणवेश के पैसे भी कांग्रेस सरकार ने रोक दिये थे।

यह चुनाव नहीं धर्म युद्ध है—

स्मृति ईरानी ने कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि यह चुनाव विधानसभा का चुनाव नहीं है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे खुद कह गए हैं, महाभारत का युद्ध है। पांडव हम हैं। कौरव वे खुद हैं। यह धर्म युद्ध है, जिसमें जीत हमेशा सत्य की होगी। जीत हमेशा कमल की होगी। राम मंदिर वहीं बनाएंगे, हर गरीब के घर तक राशन पहुंच जाएंगे। हर बहन के खाते में पैसा पहुंचाएंगे। हर गरीब के बच्चों को साइकिल और गणेश दिलवाएंगे। इस संकल्प के साथ 17 नवंबर को कमल का बटन दबाकर भाजपा प्रत्याशियों को प्रचंड बहुमत से चुनाव जिताएं।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!