[the_ad id='16714']

झारखंड विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण के समय सत्ता पक्ष के विधायकों का हंगामा

रांची- 05 फरवरी। झारखंड विधानसभा में मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन सरकार के फ्लोर टेस्ट के पहले दिन सोमवार को विशेष सत्र की शुरुआत राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन के अभिभाषण से हुई। अभिभाषण के दौरान सदन में शोर-गुल होता रहा। राज्यपाल विधानसभा में अभिभाषण के दौरान हंगामा मचाए जाने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि राज्यपाल का अभिभाषण सत्ता पक्ष के द्वारा तैयार रहता है, जिसे समझना चाहिए। राजभवन अपनी भूमिका का निर्वाहन करते रहेंगे।

राज्यपाल ने आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम की सरहाना की। राज्यपाल ने कहा कि हमारी सरकार झारखंड के लोगों को एक स्वच्छ और साफ सुथरी सरकार देने को वचनबद्ध है। विधि व्यवस्था और लॉ एंड ऑर्डर में सुधार हुआ है। एक साल से सरकार ने कई ऐसी काम किये जिसका फायदा जनता को मिल रहा है। हमारा राज्य हर एरिया में विकास के नये आयाम तय कर रहा है। उद्योग के क्षेत्र में भी कई काम हुए। राज्यपाल के अभिभाषण के बीच सत्ता पक्ष के विधायकों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सबसे पहले विधायक प्रदीप यादव अपनी जगह से खड़े होकर हंगामा करने लगे। वो हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी को गलत बता रहे थे। सत्ता पक्ष के कई सारे विधायक हाय-हाय का नारा लगाने लगे। राज्य सरकार को अस्थिर करने और हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी को गलत बताया। विधायकों ने ईडी अपना केस वापस लो की नारेबाजी की। विधायक शिबू सोरेन जिंदाबाद और हेमंत सोरेन जिंदाबाद के नारे लगाए। शोर गुल के बीच राज्यपाल ने राज्य सरकार के काम की सराहना की। राज्यपाल ने अपना अभिभाषण जोहार के साथ समाप्त किया।

कांग्रेस के कई विधायक नाराज थे, इसलिए 10 करोड़ खर्च कर चार्टर्ड प्लेन में बैठाया: भानु प्रताप

भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के विधायकों को 10 करोड़ देकर चार्टर्ड प्लेन में बैठाया गया। क्योंकि कांग्रेस के कई विधायक नाराज थे। हैदराबाद से लौटने के बाद भी सर्किट हाउस में कई विधायकों को दक्षिण दिया गया। इसका मतलब साफ है कि सरकार के अंदर सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। मुझे लगता है कि यह सरकार फ्लोर टेस्ट में अपना बहुमत साबित नहीं कर पायेगी।

हेमंत सोरेन बाहरी लोगों की सलाह के चक्कर में जेल चले गये: अमित मंडल

भाजपा विधायक अमित मंडल ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बाहरी लोगों की सलाह के चक्कर में जेल चले गये। इसलिए वर्तमान सरकार मुख्यमंत्री से आग्रह है कि वह ऐसे लोगों से बचें।

अपने विधायकों की रखवाली करनी पड़ रही: बाबूलाल मरांडी

भाजपा विधायक बाबूलाल मरांडी ने कहा कि यह कैसी सरकार है, जिसे अपने विधायकों की रखवाली करनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को अपने विधायकों पर ही भरोसा नहीं है। अब देखिए सदन में क्या होता है। फ्लोर टेस्ट में क्या होता है।

अपने विधायकों पर ही भरोसा नहीं: राज सिन्हा

विधानसभा के बाहर भाजपा विधायक राज सिन्हा ने कहा कि सत्ता पक्ष के विधायक अंतरात्मा पर वोट करेंगे क्योंकि यह सरकार अपना बहुमत खो चुकी है। उन्होंने जेएमएम सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि उनको अपने विधायकों पर भरोसा नहीं है। इसलिए उन्हें हैदराबाद ले जाया गया। आखिर खरीद फरोख्त का डर क्यों है। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि फ्लोर में नयी चंपई सरकार गिर जायेगी।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!