[the_ad id='16714']

अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेले में पहुंचे 29 लाख लोग, 27 करोड़ की किताबें बिकीं

कोलकाता- 01 फरवरी। कोलकाता में हर साल लगने वाले अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले का समापन बुधवार को हो गया है। गुरुवार को आयोजकों में से एक अधिकारी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेले में रिकॉर्ड 29 लाख लोगों ने दौरा किया। पुस्तक मेले में 27 करोड़ रुपये की किताबों की बिक्री दर्ज की गई, जो पिछले साल की बिक्री से अधिक है।

अधिकारी ने दावा किया कि 25 करोड़ रुपये का आंकड़ा अब पुस्तक मेले के इतिहास में अब तक का उच्चतम आंकड़ा रहा था। अब यह रिकॉर्ड टूट गया है। पुस्तक मेले में दर्शकों की संख्या पिछली बार 25 लाख से बढ़कर इस वर्ष 29 लाख हो गई, जो एक और नया रिकॉर्ड है।

मेले के आयोजक पब्लिशर्स एंड बुकसेलर्स गिल्ड के महासचिव सुधांग्शु दे ने बताया कि पुस्तक मेला 18 से 31 जनवरी तक आयोजित किया गया। इसके बाद ही यह हिसाब लगाया गया है कि कितने लोग आए और कितने की किताबें बिक्री हुई हैं। किताबों के प्रति लोगों को प्रोत्साहित करने की एक पहल के रूप में, गिल्ड ने एक पाठक को सम्मानित किया जिसने तीन लाख 15 हजार रुपये की किताबें खरीदीं। उनका नाम देवब्रत चटर्जी है। देवब्रत एक निजी ट्यूटर हैं।

गिल्ड के अध्यक्ष त्रिदीब चटर्जी ने बताया कि हम वरिष्ठ नागरिकों सहित इस राज्य के पुस्तक-प्रेमी लोगों को मेले में आने और इसके 48वें संस्करण में बेहतर और अधिक समावेशी तरीके से माहौल का आनंद लेने में मदद करने के लिए नई पहल करेंगे। पुस्तक मेले के डिजिटलीकरण को बढ़ाने के लिए, हमने मानचित्र और क्यूआर कोड प्रदान किए, जिससे उपस्थित लोगों के लिए आसान ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा हुई। चटर्जी ने बताया कि 48वां अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेला जनवरी 2025 में आयोजित किया जाएगा।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!