मशरूम से हृदयरोग और मधुमेह बीमारी होती है छूमंतर : वैज्ञानिक

हमीरपुर- 25 नवम्बर। कृषि विज्ञान केन्द्र के तत्वाधान में आयोजित मशरूम पोषक तत्वों के व्यंजन पर आयोजित प्रशिक्षण में वैज्ञानिक डाॅ.एसपी सोनकर ने कहा कि मशरूम पोषक तत्व है जिनके सेवन से हृदयरोग, मधुमेह और बच्चों में सूखा रोग जैसी बीमारी छूमंतर होती है। उन्होंने कहा कि इसका सेवन लगातार करने से सेहत भी सुधरेगी।

सुमेरपुर ब्लाक के उजनेड़ी गांव में गुरुवार को आयोजित ग्रामीण महिलाओं और युवतियों के प्रशिक्षण में राजकीय कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डाॅ.सोनकर ने कहा कि मशरूम को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। इसके सेवन से बेरी-बेरी रोग और चर्मरोग बीमारी में भी ब़ा लाभ मिलता है। केन्द्र की डाॅ.फूल कुमारी ने मशरूम के पोषक तत्वों के बारे में चर्चा हुआ बताया कि इसमें प्रोटीन, कार्बाेहाइड्रेट, विटामिन बी सी, डी वी के तथा साथ में पोटेशियम, फास्फोरस, कैल्शियम, लोहा, तांबा, एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। उन्होंने मशरूम टमाटर सूप, मशरूम पकोड़ा, मशरूम पालक, मशरूम खीर, मशरूम पराठा-पूड़ी, मशरूम शिशु आहार के बारे में विस्तृत रूप से बताया।

उन्होंने सजीव प्रदर्शन करते हुए मशरूम पुलाव बनाने की विधि बताया कहा कि मशरूम 200 ग्राम धुली हुई व कटी हुई चावल ढाई सौ ग्राम, प्याज एक बड़ा बारीक कटा हुआ, काली मिर्च 10-15, बड़ी इलायची 02-03, लौंग या दालचीनी 33, तेजपत्ता दो, जीरा एक चम्मच, अदरक 50 ग्राम कद्दूकस किया हुआ। दो-तीन कटी हुई हरी मिर्च, देसी घी दो चम्मच, हरा धनिया 50 ग्राम बारीक कटा हुआ, हल्दी पाउडर आधा चम्मच, नमक स्वाद अनुसार इत्यादि सामग्री से उत्कृष्ट गुणवत्ता युक्त मशरूम पुलाव तैयार कर नव युवतियों व महिलाओं को सिखाया।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!