[the_ad id='16714']

MADHUBANI:- बमबारी से थर्रा उठा धमियापट्टी गांव, हथियार के बल पर लाखों की लूट, पुलिस के सामने बम फोड़ते फरार हुए अपराधी, तमाषायी बनी रही पुलिस

मधुबनी- 25 जनवरी। देवधा थाना क्षेत्र के धमियापट्टी गांव में बीती रात नकाबपोश हथियारबंद डकैतों ने डाकाजनी की घटना को अंजाम देकर लाखों के लूट की घटना को अंजाम दिया। करीब एक घंटा से अधिक समय तक डकैतों के तांडव बमबारी और गोलीबारी से पूरा धमियापट्टी गांव थर्रा गया। घटना की सूचना मिलने पर जयनगर एसडीपीओ विप्लव कुमार, सर्किल इंस्पेक्टर आरके भानु एवं देवधा थाना पुलिस घटनास्थल पर पहुंचे, परंतू डकैतों ने गोली फायरिंग कर फरार होने में सफल रहे। प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात करीब 11 बजे करीब डेढ़ दर्जन की संख्या में नकाबपोश हथियारबंद डकैतों ने देवधा थाना क्षेत्र के धमियापट्टी गांव निवासी सरत कुमार ठाकुर उर्फ बटोही बाबू के आवास के मुख्य गेट पर दरबाजा खोलने को लेकर आवाज दिया। गृहस्वामी की पत्नी मंजू देवी ने अपने पति को इसकी जानकारी दी। गृहस्वामी को अधिक संख्या में नकाबपोश होने पर संदेह लगा और आवाज देकर पूछना चाहा। इसी क्रम में गृहस्वामी को शक लगा कि ये लोग डकैत हो सकते हैं। जब तक कुछ समझ पाता कि एक के बाद एक डकैतों की टोली ने मकान के छत पर चढ़ना शुरू कर दिया। गृहस्वामी ने अपना जान को बचाते हुए मकान का दिवार फांद कर वहां से फरार हो गए। तबतक हथियारबंद डकैतों ने घर में प्रवेश कर गृहस्वामी सरत कुमार ठाकुर की पत्नी मंजू देवी के साथ नोकझोंक कर पिस्तौल के बल पर घर में रखे आलमीरा का चाभी मांगा। गृहनी ने अपनी जान बचा कर डकैतों को चाभी सौप दिया। डकैतों ने गृहनी को एक कमरे में बंद कर दिया। करीब एक घंटे तक डकैतों ने घर के सभी कमरों के गेट का ताला को तोड़कर रुपया और आभुषण की तलाशी लेने लगे। गृहस्वामी के बड़े भाई पूर्व सरपंच सुभाष ठाकुर के घर में रखे आलमारी व उसके लाॅकर को तोड़ कर घर में रखे लाखों रुपये नगद गहने समेत अन्य सामान लूट लिया। घंटों तक चली डाकाजनी की घटना के बीच ग्रामीणों के एकत्रित होने पर विरोध के क्रम में डकैतों ने ग्रामीणों पर बम फेंका। जिसमें ग्रामीण मिहीर कुमार मिश्रा उर्फ लालटू बाल-बाल बच गए। डकैतों के द्वारा जहां तहां फायरिंग और बम फोर कर गांव में दहशत फैलाया। ताकि ग्रामीण डाकाजनी का विरोध नहीं कर सके। गृहस्वामी की माने, तो करीब डेढ़ दर्जन से अधिक की संख्या में डकैतों ने दो राउंड गोली चलाया और पांच बम फोड़े। घर से करीब दस लाख तक की संपत्ति की लूट की वारदात को अंजाम दिया है। ग्रामीणों ने बताया कि डकैतों ने कई घरों में घटना को अंजाम देने के फिराक में था। एक ही घर में घंटों डाकाजनी की घटना के बाद नजदीक के विनोद नारायण ठाकुर के घर में भी घटना को अंजाम देने के लिए गेट खोलने को लेकर आवाज लगाया। जब लोहे का गेट नहीं खोला गया, तो डकैतों के द्वारा गेट का तोड़कर घर में प्रवेश किया। इसी दौरान घर के सुरक्षा पर तैनात नाइट गार्ड हजारी कामत और डकैतों के बीच नोकझोंक में डकैतों ने लोहे की रड से हजारी कामत पर प्रहार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि घटना स्थल पर पुलिस के पहुंचने पर डकैतों ने बम फेक कर भागने में सफल रहा। पुलिस सूत्रों की मानें तो पुलिस के द्वारा भी डकैतों पर जवाबी फायरिंग की गई है। जिसे नाकाम समझा जा सकता है। ग्रामीणों ने बताया कि डकैतों के सामने पुलिस बौना साबित हुई। अगर पुलिस जवाबी कार्रवाई करती तो परिणाम के तौर पर सबूत हाथ लगता। आपकों बता दें कि गृहस्वामी के घर पर एक साल में ये तीसरी घटना है। घटना को लेकर मधुबनी पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार ने बुधवार को घटनास्थल का जायजा लेने के बाद बताया कि पुलिस मामले का उद्भेदन जल्द करेगी। घटना को लेकर टीम का गठन किया गया है।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *