[the_ad id='16714']

स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार दुनिया को भी भारत के बड़े सपनों पर भरोसा: PM मोदी

मुंबई/नई दिल्ली- 19 जनवरी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार दुनिया भारत के संकल्पों पर भरोसा जता रही है। हर जगह भारत के लिए सकारात्मक भावनाएं हैं क्योंकि लोगों को लग रहा है कि देश अपनी ताकत का सदुपयोग कर रहा है।

प्रधानमंत्री मुंबई के बीकेसी में एमएमआरडीए मैदान में 38,800 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास पहलों का उद्घाटन, लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज मुंबई के विकास से जुड़े 40 हजार करोड़ रुपये के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है। ये सब मुंबई शहर को बेहतर बनाने वाले सिद्ध होने वाले हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व की सरकारों पर विकास की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए कहा, “हमारे यहां तो पिछली सदी का एक लंबा कालखंड सिर्फ और सिर्फ गरीबी की चर्चा करने और दुनिया से मदद मांगने जैसे- तैसे गुजरा करने में ही बीत गया। आज दुनिया को भी भारत के बड़े-बड़े संकल्पों पर भरोसा है।”

उन्होंने कहा, “आजादी के बाद पहली बार न्यू इंडिया के बड़े सपने हैं और उन्हें साकार करने का हौसला है। वरना पिछली सदी का एक लंबा दौर ऐसा रहा है जो गरीबी की चर्चा और विदेशियों से मदद मांगने में खो गया।” प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत को लेकर दुनिया में इतनी सकारात्मकता इसलिए है क्योंकि आज सभी को लगता है कि भारत अपने सामर्थ्य का बहुत ही उत्तम तरीके से सदुपयोग कर रहा है। आज भारत अभूतपूर्व आत्मविश्वास से भरा हुआ है।

भ्रष्टाचार को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले गरीबों के कल्याण के लिए आने वाले धन को बिचौलियों द्वारा हड़प लिया जाता था। पिछले 8 वर्षों में हमने इस दृष्टिकोण को बदल दिया है और आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च बढ़ाकर भविष्यवादी सोच के साथ आगे बढ़ रहे हैं। दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाएं आज उथल-पुथल में हैं जबकि भारत 80 करोड़ भारतीयों को मुफ्त राशन देना जारी रखे हुए है। वैश्विक मंदी के बीच भी, भारत ने बुनियादी ढांचे में निवेश करना जारी रखा है, जो एक विकसित राष्ट्र होने की दिशा में उसकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत भर के कई शहर देश की विकास गाथा को शक्ति देने जा रहे हैं, इसलिए मुंबई को भविष्य के लिए तैयार करना डबल इंजन सरकार की प्रतिबद्धताओं में से एक है। उन्होंने कहा कि विकसित भारत के निर्माण में हमारे शहरों की भूमिका सबसे अहम है। वर्ष 2014 तक मुंबई में केवल 10-11 किलोमीटर तक मेट्रो चलती थी लेकिन हमारी डबल इंजन की सरकार ने मेट्रो के काम को अभूतपूर्व गति दी है।

महाराष्ट्र में विकास कार्यों की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की ‘जोड़ी’ मुंबई के नागरिकों के सपनों को साकार करेगी। प्रधानमंत्री ने शिवसेना या कांग्रेस का नाम लिए बिना कहा कि महाराष्ट्र में डबल इंजन सरकार का विकास कार्य कुछ समय के लिए रुक गया था। उन्होंने कहा कि मुंबई के पास बजट की कोई कमी नहीं है लेकिन इसका सही इस्तेमाल करना होगा। उन्होंने कहा कि आने वाले कुछ वर्षों में मुंबई का कायाकल्प होने जा रहा है। आज सबकुछ ट्रैक पर आ रहा है और इसके लिए मैं शिंदे जी और देवेंद्र जी को बधाई देता हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार भारत बड़े सपने देखने और उन्हें पूरा करने का साहस कर रहा है। उन्होंने कहा क आज हर किसी को लगता है कि भारत तेजी से विकास और समृद्धि के लिए कुछ जरूरी काम कर रहा है। आज भारत अभूतपूर्व आत्मविश्वास से भरा हुआ है। छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रेरणा से, ‘स्वराज’ और ‘सुराज’ की भावना आज के भारत की डबल-इंजन सरकार को दर्शाती है।

उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य इंटरसिटी के साथ-साथ सीएसएमटी के माध्यम से यात्रा करने वाले इंट्रा-सिटी यात्रियों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करना है। यह स्टेशन मल्टी-मॉडल कनेक्टिविटी हब का भी हिस्सा होगा, जिसमें बस, टैक्सी और ऑटो एक ही छत के नीचे उपलब्ध होंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे शहरों में रेहड़ी, ठेले, पटरी पर काम करने वाले साथी जो शहर की अर्थव्यवस्था का अहम हिस्सा हैं, उनके लिए हमने पहली बार योजना चलाई। हमने इन छोटे व्यापारियों के लिए बैंकों से सस्ता और बिना गारंटी का ऋण सुनिश्चित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र में भी पांच लाख साथियों के ऋण स्वीकृत हो चुके हैं। यह काम बहुत पहले होना चाहिए था लेकिन बीच के कुछ समय में डबल इंजन की सरकार ना होने के कारण हर काम में अड़ंगे डाले गए और लाभार्थियों को नुकसान उठाना पड़ा।

प्रधानमंत्री ने आज जिन परियोजनाओं की शुभारंभ किया, उनमें मुंबई मेट्रो की दो लाइनों दहिसर पूर्व से डीएन नगर (येलो लाइन) लाइन को जोड़ने वाली लाइन 2-ए और अंधेरी पूर्व से दहिसर पूर्व (रेड लाइन) को जोड़ने वाली मेट्रो लाइन 7 के दूसरे चरण का उद्घाटन। महानगरपालिका के 20 हिंदू हृदय सम्राट बालासाहब ठाकरे आपला दवाखाना का लोकार्पण। भांडुप में महानगरपालिका के 360 बेड वाले मल्टीस्पेशियलिटी अस्पताल, गोरेगांव (पश्चिम) में 306 बेड वाले अस्पताल व ओशिवारा में 152 बेड के मैटरनिटी होम के पुनर्विकास की आधारशिला शामिल है। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने मुंबई में लगभग 2,460 एमएलडी संयुक्त क्षमता के 7 सीवेज शोधन संयंत्रों का शिलान्यास किया। उन्होंने मुंबई की लगभग 400 किमी सड़कों को पक्का करने के लिए सड़क निर्माण परियोजना का शुभारंभ किया। साथ ही प्रधानमंत्री ने छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास की भी आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री ने पीएम स्वनिधि योजना के तहत एक लाख से अधिक लाभार्थियों के स्वीकृत ऋणों का हस्तांतरण किया।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *