[the_ad id='16714']

पहलवानों ने की खेल मंत्री से मुलाकात, कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को पद से हटाने की मांग, बृजभूषण ने आरोपों को बताया साजिश

नई दिल्ली- 19 जनवरी। भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष के खिलाफ कुश्ती खिलाड़ियों का विरोध प्रदर्शन लगातार दूसरे दिन भी जारी रहा। प्रदर्शन कर रहे पहलवानों ने कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर महिला खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। खिलाड़ियों ने कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष को पद से हटाने की मांग की है। इस बीच गुरुवार देर रात प्रदर्शनकारी पहलवानों ने खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से दिल्ली स्थित उनके आवास पर मुलाकात की और अपनी शिकायतों को लेकर बातचीत की।

वहीं, सूत्रों की मानें तो खेल मंत्रालय की ओर से बृजभूषण सिंह को 24 घंटे में महासंघ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने को कहा गया है लेकिन बृजभूषण ने ऐसा करने से इनकार कर दिया है।

दरअसल, यह पूरा मामला बीते दिन 18 जनवरी को तब गर्माया जब महिला खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न और उन्हें परेशान करने का आरोप भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर लगा। इस आरोप को लेकर देश के दिग्गज पहलवानों ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना शरू कर दिया, जो आज गुरुवार को दूसरे दिन भी जारी रहा। खिलाड़ियों की स्पष्ट मांग है कि वर्तमान अध्यक्ष को पद से हटाया जाए और किसी खिलाड़ी को ही महासंघ का अध्यक्ष बनाया जाए। वहीं, महासंघ के कामकाज पर भी सवाल उठाए गए हैं।

पहलवानों का कहना है कि जब तक दोषियों को सजा नहीं मिलती वो धरने पर बैठेंगे और किसी भी इवेंट में कोई एथलीट हिस्सा नहीं लेगा।

अपनी इसी मांग को लेकर खिलाड़ियों का एक दल आज देर रात खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से मुलाकात करने उनके आवास पर पहुंचा। खेल मंत्री से मिलने वाले खिलाड़ियों में बजरंग पुनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक, बबिता फोगाट व अन्य पहलवान शामिल रहे।

दूसरी ओर, बृजभूषण शरण सिंह ने खुद पर लगे आरोपों को साजिश बताया है और कहा है कि अगर आरोप साबित होते हैं तो वे फांसी पर भी लटकने को तैयार हैं।

सूत्रों की मानें तो खेल मंत्रालय की तरफ से बृजभूषण सिंह को महासंघ के अध्यक्ष पद 24 घंटे में इस्तीफा देने को कहा गया है। साथ ही यह भी कहा गया है कि अगर वो पद से खुद नहीं हटते हैं तो उन्हें हटाया जाएगा। जबकि बृजभूषण सिंह ने फिलहाल इस्तीफा देने की बात को सिरे से खारिज कर दिया है।

मांगें पूरी होने तक जारी रहेगा प्रदर्शन

इससे पहले खेल मंत्रालय के अधिकारियों ने बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक के साथ बैठक की। इसमें समस्या के समाधान को लेकर अधिकारियों ने खिलाड़ियों को आश्वासन दिया है, लेकिन पुनिया ने बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर साफ कर दिया है कि जब तक अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को पद से नहीं हटाया जाता और फेडरेशन को भंग नहीं किया जाता तब तक धरना इसी तरह जारी रहेगा। कल (गुरुवार) सुबह दोबारा खिलाड़ी सुबह 10 बजे से हड़ताल पर बैठेंगे। उन्होंने साफ तौर पर यह भी कहा कि अधिकारियों के साथ जो बैठक हुई सिर्फ उसमें आश्वासन मिला है, जो काफी नहीं है।

खिलाड़ियों में से ही अध्यक्ष बनाने की मांग

प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्टार महिला पहलवान विनेश फोगाट ने अपनी बात रखते हुए बृजभूषण सिंह पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाने के साथ कहा कि अब हमारे पास उनके खिलाफ ना सिर्फ पक्के सबूत हैं, बल्कि पांच से छह लड़कियां भी हैं। जिन्होंने शोषण की शिकायत की है। कल विरोध प्रदर्शन शुरू होने के बाद से लगातार मुझे देशभर से महिला खिलाड़ियों के फोन आ रहे हैं कि आपने बहुत अच्छा किया। हमारी आवाज उठाई। जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं हो जाती तब तक हम धरने पर बैठे रहेंगे।

फोगाट ने कहा कि हमारी अपील प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और सुप्रीम कोर्ट से है कि पूरे मामले का संज्ञान लेकर न्यायिक जांच करवाई जाए। साथ ही जांच होने तक फेडरेशन को भी भंग किया जाए और उसके अध्यक्ष को भी हटाया जाए। हम लोगों की एक मांग यह भी है कि फेडरेशन का अगला अध्यक्ष हमारे बीच से ही किसी खिलाड़ी को बनाया जाए जो खिलाड़ियों की परेशानी को समझ सके।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *