[the_ad id='16714']

बुजुर्ग महिला पर प्लेन में पेशाब करने वाला गिरफ्तार

नई दिल्ली- 07 जनवरी। एयर इंडिया की फ्लाइट में एक बुजुर्ग महिला यात्री पर पेशाब करने के मामले में फरार चल रहे आरोपित शंकर मिश्रा को दिल्ली पुलिस ने आखिरकार गिरफ्तार कर लिया है। इसकी पुष्टि डीसीपी एयरपोर्ट रवि कुमार सिंह ने की है। उसे बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया है। मुम्बई के रहने वाले इस आरोपित को पकड़ने के लिए कई टीमों का गठन किया गया था।

दिल्ली पुलिस को जब शिकायत मिली थी एयर इंडिया की तरफ से तब जांच के दौरान ही इसकी पहचान शंकर मिश्रा के रूप में कर ली गई थी। जो मुंबई का एक व्यवसायी बताया जा रहा था। एयरपोर्ट पुलिस ने आरोपित यात्री का पता लगाने के बाद जब उसे पकड़ने के लिए मुंबई पहुंची तो पता चला वह वहां से फरार है। दिल्ली की एयरपोर्ट पुलिस की टीम शंकर मिश्रा को पकड़ने के लिए लगातार पीछे लगी हुई थी।

पुलिस के अनुसार एयर इंडिया को दी गई पीड़िता की शिकायत के आधार पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 294 (सार्वजनिक स्थान पर अश्लील हरकत करने), 354 ( महिला को अपमानित करने के इरादे से उस पर हमला या आपराधिक बल प्रयोग करने), 509 ( किसी महिला की लज्जा भंग करने का ) और 510 ( शराबी व्यक्ति द्वारा सार्वजनिक रूप से गलत व्यवहार करने ) के साथ-साथ विमान नियमों के तहत के तहत मामला दर्ज किया था।

आरोपित हवाई यात्री पर नजर रखने के लिए कई टीमों को लगाया गया था। उसे जल्द ही गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही थी। गौरतलब है, की एयर इंडिया के विमान में पिछले साल 26 नवंबर को न्यूयॉर्क से दिल्ली आ रही उड़ान के दौरान 70 साल की बुजुर्ग महिला पर पेशाब किया था।

यह भी पता चला की पेशाब करने वाले इस हवाई यात्री पर आगामी 30 दिनों के लिए यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। साथ ही एक इंटरनल कमेटी बनाकर यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है, की मामले की जानकारी मिलने पर क्रू मेंबर्स के सदस्यों की तरफ से क्या कार्रवाई हुई या क्या लापरवाही हुई।

इसके अलावा डीजीसीए ने कहा कि उसने पिछले साल 26 नवंबर को हुई घटना को लेकर एयरलाइन से रिपोर्ट मांगी है। डीजीसीए ने कहा कि मामले में विमानन कंपनी के जो कर्मी लापरवाही बरतने के दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

बुजुर्ग महिला कर्नाटक की रहने वाली है। पुलिस ने दावा किया कि उसे एयरलाइन की ओर से 28 दिसंबर को संक्षिप्त रूप से घटना के बारे में जानकारी दी गई थी। जिसके बाद उन्होंने पीड़ित और एयरलाइन से संपर्क कर यात्री और शिकायत के बारे में डिटेल में रिपोर्ट मांगी गई थी। यह भी पता चला है कि आरोपी जिस कंपनी में काम करता था वहां से उसे निकाल दिया गया है।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *