[the_ad id='16714']

जम्मू कश्मीर व लद्दाख में कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी

श्रीनगर- 23 दिसंबर। जम्मू कश्मीर व लद्दाख में कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी है। घाटी में चिल्लई कलां शुरू के होते ही जम्मू कश्मीर में भीषण ठंड के साथ ही धुंध व शीतलहर का प्रकोप भी तेज हो गया है। शुक्रवार सुबह से ही धुंध का प्रकोप बना हुआ है और इस दौरान शीतलहर भी अपनी चरम सीमा पर पहुंच गई है। घाटी में चिल्लई कलां शुरू होते ही जलस्त्रोत ज्यादातर जम गए हैं जो कि पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए प्राप्त हैं और जो पर्यटक घाटी में मौजूद हैं वह इन नजारों का लुत्फ उठा रहे हैं। इसी बीच श्रीनगर में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान शून्य से 4.8 डिग्री सेल्सियस नीचे और लेह में शून्य से नीचे 13.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

काजीगुंड में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 4.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस दौरान पहलगाम में शून्य से नीचे 6.4 डिग्री सेल्सियस के साथ ही इस मौसम की सबसे ठंडी रात रही। कोकरनाग में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 2.8 डिग्री सेल्सियस , गुलमर्ग में शून्य से नीचे 5.5 डिग्री सेल्सियस और कुपवाड़ा शहर में पारा शून्य से नीचे 5.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जम्मू में पिछली रात के 7.5 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले न्यूनतम तापमान 6.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बनिहाल में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 1.8 डिग्री सेल्सियस (सामान्य से 2.7 डिग्री सेल्सियस नीचे), बटोत में 1.6 डिग्री सेल्सियस (सामान्य से 1.1 डिग्री सेल्सियस नीचे), कटरा में 5.2 डिग्री सेल्सियस (सामान्य से 1.7 डिग्री सेल्सियस नीचे) और भद्रवाह में शून्य से नीचे 0.2 डिग्री सेल्सियस (0.3 डिग्री सेल्सियस नीचे) दर्ज किया गया।

लद्दाख में लेह और कारगिल में न्यूनतम तापमान क्रमश शून्य से नीचे 13.8 डिग्री सेल्सियस और 13.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

कश्मीर चिल्लई-कलां के तहत40 दिनों की लंबी कठोर सर्दियों की अवधि जारी है जो 21 दिसंबर से शुरू हुई थी। इसके बाद 20 दिनों की लंबी अवधि चिल्लई-खुर्द और 10 दिन लंबी अवधि चिल्लई-बच्चा होगी।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *