[the_ad id='16714']

 इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ केरल में ईरानी निर्देशक महनाज मोहम्मदी ने भेजे अपने कटे हुए बाल, ये है वजह

27 वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ केरल 2022 इन दिनों चर्चा में है। इस फिल्म फेस्टिवल की शुरुआत 9 दिसंबर से हो चुकी है, जो 16 दिसंबर तक चलेगी। दुनियाभर के फिल्ममेकर और मनोरंजन जगत से जुड़े लोग इसमें हिस्सा ले रहे हैं। वहीं, बेहतरीन फिल्मों को भी दिखाया जा रहा है। यह फिल्म फेस्टिवल इस समय सुर्खियों में हैं एक ईरानी फिल्ममेकर की वजह से। दरअसल ईरानी निर्देशक महनाज मोहम्मदी ने फिल्म फेस्टिवल में अपने कटे हुए बाल भेजे हैं, जिसे देखकर हर कोई हैरान रह गया।

केरल फिल्म फेस्टिवल का आगाज शुक्रवार से हुआ है। इसमें ईरानी निर्देशक महनाज मोहम्मदी को ‘स्पिरिट ऑफ सिनेमा’ के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। लेकिन ईरान में महिलाओं के हक के लिए महीनों से चल रही लड़ाई के कारण वह फेस्टिवल का हिस्सा नहीं बन पाईं। ऐसे में उन्होंने अपनी ग्रीक फिल्ममेकर एथीना रेचल त्संगारी के हाथों अपने कटे हुए बाल भेजे। ऐसे में एथेना ने उनका अवॉर्ड लिया और दर्शकों को उनके कटे बालों के साथ उनका संदेश भी दिया।

एथीना ने महनाज मोहम्मदी के एक संदेश को भी पढ़कर सुनाया। उसमें लिखा था, ‘ये मेरे बाल हैं, जिन्हें मैंने अपना दर्द दिखाने के लिए काट दिया है। ये मेरे दर्द को दिखाते हैं। मैं ये आपको भेज रही हूं क्योंकि इन दिनों हमें अपने समान अधिकारों को पाने के लिए एकता की जरुरत है।’ इसके साथ उन्होंने दर्शकों से ‘जेन, जिंदगी, आजादी’ यानी औरतें, जिंदगी और आजादी का नारा लगाने की भी गुजारिश की।

गौरतलब है कि महसा अमीनी को 13 सितंबर को सही तरीके से हिजाब न पहनने के जुर्म में पुलिस ने तेहरान मेट्रो स्टेशन से गिरफ्तार किया था।आरोप है कि महसा के साथ इस कदर मारपीट की गई कि तीन दिन कोमा में रहने के बाद उसकी मौत हो गई, तभी से ईरानी महिलाएं गुस्से में सड़कों पर उतर आईं और तब से पूरे ईरान में इसे लेकर भारी आंदोलन हो रहा है।

lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *