थप्पड़ बाज लड़की का नया ड्रामा हुआ वायरल

5 अगस्त : कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें 1लड़की एक कैब ड्राइवर को उछल उछल कर थप्पड़ से मार रही है लड़की का कहना था कि कैब ड्राइवर ने उस पर कार चलाने की कोशिश की इस वजह से उसने कैब ड्राइवर को जमकर पीटा लेकिन सच्चाई ज्यादा दिन तक छुपी नहीं रही क्योंकि वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में सारी फुटेज रिकॉर्ड हो गई थी और उसे यह सच सामने आ गया कि क्या ड्राइवर की कोई गलती नहीं थी कैब ड्राइवर बार-बार कहता रहा  कि उसकी कोई गलती नहीं गलती नहीं है लेकिन वहां कड़ी जनता ने भी लड़की का ही साथ दिया.
हाल ही में थप्पड़ बाज लड़की की एक और वीडियो वायरल हो रही है जिसमें वह अपने पड़ोसी से लड़ती हुई दिखाई दे रही है इस वीडियो में प्रदर्शनी यादव ने पड़ोसी से लड़ाई करते हुए दिख रही हैं वह उनसे गेट का कलर चेंज करवाने के लिए कह रही हैं गेट का कलर काले से बदलवा कर दूसरा कलर करवाने को बोल रही है.
यह वीडियो पुराना वीडियो है इस वीडियो में प्रियदर्शिनी यादव ने अपने पड़ोसी पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि उन्होंने काला पेंट करा रखा है जिससे कि ड्रोन हमला होने का खतरा है वीडियो में पुलिसकर्मी की आवाज भी आ रही है प्रियदर्शिनी यादव के इस बात से वहां खड़े सभी लोग जोर-जोर से प्रियदर्शिनी यादव पर हंसने लगे
अपने पड़ोसी पर इल्जाम लगाते हुए कहती है कि यह मुझे गाली दे रहे थे,साथ ही बाकी लोगों को भी बुला लिया, मुझे डंडे से मारने की धमकी दी गई पुलिस कर्मी से प्रदर्शनी यादव पूछती है कि क्या यह घर को काला पेंट कर सकते हैं इस पर पुलिसकर्मी कहता है नहीं-नहीं काला पेंटनहीं करा सकते.
प्रियदर्शिनी यादव का ही लखनऊ की एक लालबत्ती पर कैब ड्राइवर की पिटाई का वीडियो वायरल हुआ था. शुरुआत में कैब ड्राइवर को ही दोषी माना जा रहा था, लेकिन 2  अगस्त को जब महिला की पीटने का वीडियो वायरल होने लगा तब सच सामने आया. इसके बाद पुलिस ने महिला के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था. 
पुलिस की ओर से एफआईआर दर्ज होने के बाद प्रियदर्शिनी यादव सामने आई और कहा कि मैंने अपनी सुरक्षा में युवक को पीटा था. इसके साथ ही लड़की ने कहा कि मुझे हार्ट की प्रॉब्लम है, किडनी की भी प्रॉब्लम है, ब्रेन की भी प्रॉब्लम है.  
प्रियदर्शिनी यादव का आरोप है कि कार सवार लड़के मुझे 300 मीटर तक मारते ले गए, यह किसी सीसीटीवी में नहीं दिखाई पड़ा, मुझे हार्ट की प्रॉब्लम है, किडनी की भी प्रॉब्लम है, ब्रेन की भी प्रॉब्लम है, मैं हमेशा की तरह वहां से वाकिंग के लिए जा रही थी, वहां पर सिग्नल रेड हो चुका है, लेकिन ट्रैफिक पुलिस को इसइससे कोई मतलब नहीं था.
कैब ड्राइवर ने लखनऊ पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए थे. उसका कहना था कि पुलिस ने पूरी रात उसे लॉकअप में रखा, दूसरे दिन 10 हजार रुपये की रिश्वत लेकर छोड़ा इस आरोप के बाद थाना इंचार्ज, चौकी इंचार्ज के साथ ही एक एसआई को लाइन हाजिर कर दिया गया है. साथ ही पूरे मामले की जांच कराई जा रही है. 
इस मामले पर कैब ड्राइवर ने बताया था कि जब वो लड़की उसकी गाड़ी के सामने आई तब ग्रीन लाइट थी, उसके बाद भी उसने तुरंत ब्रेक मारकर गाड़ी रोकी, जिसके बाद वह लड़की गाड़ी को धक्का देने लगी, उसने गाड़ी का दरवाजा खोला, मोबाइल लिया और तोड़ दिया, इसके बाद मुझे निकल कर पीटने लगी.
lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!