राजस्थान आवासन मंडल करवायेगा जयपुर और भिवाड़ी में 2558 नए आवासों का निर्माण

5 अगस्त :
राजस्थान आवासन मंडल करवायेगा जयपुर और भिवाड़ी में 2558 नए आवासों का निर्माण
कोचिंग हब के पास बनेंगे 300 स्टूडियो अपार्टमेंट
प्रोजेक्टों को समय पर पूरा करने के लिए संविदा पर लिए जाएंगे 22 जेईएन (सिविल)
मंडल में लागू होगी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना
आवासीय अभियंता के पदों पर पदोन्नति के लिए अनुभव में छूट
इस बुधवार बिकीं 116 सम्पत्तियां, मिला 14 करोड़ 59 लाख रूपये का राजस्व
5 अगस्त : जयपुर, 4 अगस्त। आवासन आयुक्त श्री पवन अरोड़ा ने बताया कि मंडल अध्यक्ष श्री शांति कुमार धारीवाल की अध्यक्षता में बुधवार को मंडल मुख्यालय में राजस्थान आवासन मंडल के संचालक मंडल की 247 वीं बोर्ड बैठक आयोजित की गई।
इस बैठक में जयपुर की प्रतिष्ठित आवासीय योजना प्रताप नगर के सेक्टर-8 और अलवर के भिवाड़ी में मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत 2558 फ्लैट्स बनाने के साथ कोचिंग हब के पास स्टूडियो अपार्टमेंट के रूप में 300 फ्लैट बनाने का निर्णय हुआ। इसके साथ ही मंडल में संविदा पर 22 जेईन (सिविल) संविदा पर भर्ती करने, मंडल के वृत्त व खंड कार्यालयों के पुर्नगठन सहित कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।
मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत जयपुर और भिवाड़ी में बनेंगे 2558 फ्लैट
आवासन आयुक्त श्री पवन अरोड़ा ने बताया कि मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत जयपुर में सेक्टर-8 प्रताप नगर में ईडब्लूएस के 177 फ्लैट और एलआईजी के 130 फ्लैट बनेंगे। इनकी कीमत क्रमशः 7 लाख 11 हजार रूपये और 11 लाख 11 हजार रूपये रहेगी। इसी तरह मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत ही सेक्टर 26, प्रताप नगर में ईडब्लूएस के 726 और एलआईजी के 620 फ्लैट सहित कुल 1346 फ्लैट बनेंगे। इनकी कीमत क्रमशः 7 लाख 65 हजार रूपये और 11 लाख 10 हजार रूपये रहेगी। इसी तरह भिवाड़ी के अरावली विहार योजना में मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत ही 808 फ्लैट बनेंगे। इनमें ईडब्लूएस के 536 और एलाईजी के 272 फ्लैट बनेंगे। इनकी कीमत क्रमशः 7 लाख 1 हजार रूपये और 10 लाख 42 हजार रूपये रहेगी। उल्लेखनीय है कि जयपुर में बनने वाले फ्लैट जी+12 और भिवाड़ी के फ्लैट जी+3 होंगे।
कोचिंग हब के पास बनेंगे स्टूडियो अपार्टमेंट
उन्होंने बताया कि जयपुर के प्रताप नगर योजना में बन रहे कोचिंग हब के पास सेक्टर-8 में 300 स्टूडियो अपार्टमेंट बनाए जाएंगे। एक अपार्टमेंट 425 वर्ग फीट में निर्मित किया जाएगा। इसकी कीमत 8 लाख 50 हजार रूपये रखी जाएगी। इन अपार्टमेंट के बनने से कोचिंग हब में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को रहने की समस्या का समाधान होगा।
प्रोजेक्टों को समय पर पूरा करने के लिए संविदा पर लिए जाएंगे 22 जेईएन (सिविल)
आवासन आयुक्त ने बताया कि राजस्थान आवासन मंडल की वर्तमान में प्रगतिशील 125 से अधिक निर्माण परियोजनाओं के प्रभावी पर्यवेक्षण, उच्च गुणवत्ता एवं समयबद्ध पूर्णता सुनिश्चित किए जाने एवं मंडल में अभियन्ताओं की कमी के मद्देनजर रखते हुए मंडल सेवा नियमों के अनुसार 22 जेईएन (सिविल) नई भर्तियों के होने तक अनुबंध पर रखे जाने का निर्णय लिया गया।
कार्य विभाजन और कार्मिकों के बेहतर उपयोग के लिए मंडल के वृत्त व खंड कार्यालयों का होगा पुर्नगठन
भूमि की अनुपलब्धता, न्यूनतम निर्माण कार्य और कार्मिकों की अत्यधिक कमी को देखते हुए मंडल के वृत्त एवं खंड कार्यालयों का पुर्नगठन किए जाने का निर्णय लिया गया।
5 पदों पर पदोन्नति में कार्यानुभव में छूट प्रदान करने का निर्णय
आयुक्त ने बताया कि अभी आवासीय अभियंता, वरिष्ठ लेखाधिकारी, लेखाधिकारी, वरिष्ठ कार्मिक प्रबंधक, सहायक सचिव के 20 पदों पर पदोन्नति के लिए उनके पदोन्नति के निर्धारित अनुभव में 1/3 अवधि की शिथिलता प्रदान करने का निर्णय लिया गया।
ये थे उपस्थित
बैठक में नगरीय विकास एवं आवासन विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री कुंजीलाल मीणा, मुख्य नगर नियोजक श्री आर. के. विजयवर्गीय, मुख्य अभियंता श्री के. सी. मीणा, सचिव श्रीमती संचिता विश्नोई और वित्तीय सलाहकार संजय शर्मा सहित उच्चाधिकारी उपस्थित थे।
यह बुधवार भी शतकीय बुधवार
आवासन आयुक्त श्री पवन अरोड़ा ने बताया कि बुधवार नीलामी उत्सव ई-बिड सबमिशन योजना में जोडे गये नये आवासों को खरीदने के लिये जबरदस्त उत्साह दिखाई दिया। इस बुधवार को प्रदेश में 116 सम्पत्तियां बिकीं, जिससे मण्डल को 14 करोड़ 59 लाख रूपये का राजस्व मिला।
श्री अरोड़ा ने बताया कि जयपुर वृत्त प्रथम, द्वितीय और तृतीय में 88 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 10 करोड़ 50 लाख रूपये का राजस्व मिला, जोधपुर वृत्त प्रथम और द्वितीय में 7 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 1 करोड़ 39 लाख रूपये का राजस्व मिला, बीकानेर वृत्त में 4 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 51 लाख रूपये का राजस्व मिला, उदयपुर वृत्त में 13 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 1 करोड 16 लाख रूपये का राजस्व मिला, अलवर वृत्त में 3 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 75 लाख रूपये का राजस्व मिला और कोटा वृत्त में 1 सम्पत्ती बिकी, जिससे मण्डल को 28 लाख रूपये का राजस्व मिला।
lakshyatak
Author: lakshyatak

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!